TOLA KA RANG M RANGAHU GORI WO LYRICS - KANTIKARTIK YADAV - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो - CGLYRICS

Latest

सोमवार, 19 अगस्त 2019

TOLA KA RANG M RANGAHU GORI WO LYRICS - KANTIKARTIK YADAV - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो

TOLA KA RANG M RANGAHU GORI WO LYRICS - KANTIKARTIK YADAV 

TOLA KA RANG RANGAHU GORI WO LYRICS - KANTIKARTINK YADAV - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो

  • Song - Tola ka rang ma rangahu
  • Album - Aage Fagun Tihar
  • Lyrics - Mauni Lala ji(Jevartala)
  • Singer - Kantikartik Yadav
  • Music - OP Dewangan
  • Technical Head – Vinod Kashyap
  • Creative head - Kedar Yadav


TOLA KA RANG M RANGAHU GORI WO LYRICS - KANTIKARTIK YADAV 

देखा सीखी  नैना मटक्का  मने मन मता डारेव रतिहा म सजनी ल सपना म सपना डारेव 
मया होगे रे जवान मुह म पान खाही रे ये दुनिया जान जाही रे मोर प्राण जाही रे ये दुनिया जान जाही रे मोर प्राण जाही रे 

तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म 

तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे 
तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे 
हाना के बरास हाना के बरास 

हाना के बरास हाना के बरास किंदर फिर के आबे 
तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म

तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

राम के रंगनी म रंगत के पंगत हे पंगत के संग म पिरित के स्म्ह्त हे 
द्वापर दुवारी म नेंग के सरबद हे घोरे औ घूरे हे मया के रंग नंगत हे 

तोर रिस ल मै पिरित म तोर रिस ल मै पिरित म 

तोर रिस ल पलटाहूँ  गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

रंगनी के संगनी म साधे हवा तोला वो राधा के कान्हा अस बांध लेबे मोला ओ 
पीरा पिरित के संग रचे बसे चोला वो काया औ माया के भेद हे अनमोला ओ 

तोर कर्म के करनी ल वो तोर कर्म के करनी ल वो 

कर्म करनी प्र्खाहू गोरी ओ दुनिया ल भुला जाबे
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

जैसे के  मीरा हर  कान्हा के होगे य पिरित के सुरती  म सुध बुध ल खो गे य 
संझा कुन भवरा पुल के संगी हो गे य दया मया के बही फुलवा उल्होगे य 

मया मर मर के जिथे मर मर के मया मर मर के जिथे मर मर के ऐसे तोला दरसाहुं गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे 
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

बिंधना के बिधि संग बंधना म बंधा गे न जतना दुरिहा अव ताहू ह दुरिहागे न 
रंग के रंगनी म लपटे तै ह आगे न सृष्टी निति म पिरित ल तै पागे न 
कन्तिकर्तिक के मोनी लाला के कन्तिकर्तिक के मोनी लाला के 

भाव म तोला सनाहु गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे 
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

हाना के बरास हाना के बरास 
हाना के बरास हाना के बरास किंदर फिर के आबे 

तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म तोला का रंग म 

तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे
तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे 

कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे
कोरस - तोला का रंग म रंगाहू गोरी वो दुनिया ल भुला जाबे

 DOWNLOAD LYRICS







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें