Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics Chhaya Chandrakar Sunil Soni 2019 - CGLYRICS

Latest

मंगलवार, 10 सितंबर 2019

Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics Chhaya Chandrakar Sunil Soni 2019

Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics Chhaya Chandrakar  Sunil Soni 2019
प्रस्तुत करते है आप सभी के लिए लेकर आये सुपर हीट छत्तीसगढ़ी गीत  Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics , इस गीत को अपनी सुमधुर आवाज से सजाया है सुनील सोनी और छाया चन्द्रकर जी ने , आप गीत को के के कैसेट यूट्यूब चैनल में देख सकते 
Introducing the SuperHit Chhattisgarhi song for all of you Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics, this song is decorated with its melodious voice by Sunil Soni and Chhaya Chandrakar Ji, you can watch the song in K K  cassette YouTube channel
Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics Chhaya Chandrakar  Sunil Soni 2019

Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics Chhaya Chandrakar  Sunil Soni 2019

  1. Albam -  Kabhu Ha Kahiths Wo Kabhu Na
  2. Song - Mor Sapna Ke Ghar Ma
  3. Singer  - Chhaya Chandrakar | Sunil Soni 
  4. Present - Rekh Chand Oswal
  5. Producer -   Rekh Chand Oswal
  6. Director -  Aakash Chandrakar
  7. Lyrics - Harihar Mishra
  8. Music - Chandrabhushan Varma
  9. Recording  -Milan Katk
  10. Label - KK CASSETTE

Mor Sapna Ke Ghar Ma Lyrics

हाँ हाँ मोर सपना के घर म वो मन के महल म तै आबे का मोर अंगना 
मोर सपना के घर म वो मन के महल म तै आबे का मोर अंगना 

मया नगरिया बसाबे का मोर अंगना मया नगरिया बसाबे का मोर अंगना 
डोली लेके आबे चुरी पहिराबे त जाहू रे तोर अंगना 
डोली लेके आबे चुरी पहिराबे त जाहू रे तोर अंगना 

जिनगी के सपना सजाहू रे तोर संग म 
जिनगी के सपना सजाहू रे तोर संग म 

हो ..... बरसे रे मया समुन्दर म समाय वो समुन्दर म समाय वो
बरसे रे मया समुन्दर म समाय वो समुन्दर म समाय वो

तै ह नदिया तै ह  सागर मैह बिजली तै ह बादर संगवारी 
मैह नदिया तै ह  सागर मैह बिजली तै ह बादर संगवारी 

हो...... जिनगी के डोंगा के तै ह डोंगवार वो  तै ह डोंगवार
जिनगी के डोंगा के तै ह डोंगवार वो  तै ह डोंगवार

मोला दगा झन देबे बुडी जाहू मंज धारे  संगवारी 
मोला दगा झन देबे बुडी जाहू मंज धारे  संगवारी 

हाँ हाँ दगा नै दव जहुरिया खवा लेरे  किरिया तै आबे का मोरे अंगना 
दगा नै दव जहुरिया खवा लेरे  किरिया तै आबे का मोरे अंगना 

मया नगरिया बसाबे का मोर अंगना मया नगरिया बसाबे का मोर अंगना 
हो.... डोरी पतंगा अगासे उडी जाये वो अगासे उडी जाये
डोरी पतंगा अगासे उडी जाये वो अगासे उडी जाये

अयसे बंधना म बंधा ले जग पाछू रही जाये संगवारी 
अयसे बंधना म बंधा ले जग पाछू रही जाये संगवारी 

हो.... बंधना रे मोरे पिरित के बंधना वो  पिरित के बंधना
बंधना रे मोरे पिरित के बंधना वो  पिरित के बंधना

जिनगी भर नै तो छुटय चाहे छुटय जग ना रे संगवारी 
हाँ...... जिनगी भर नै तो छुटय चाहे छुटय जग ना रे संगवारी 

मोर भागे जगादे रे मांगे सजादे मै जाहू रे तोर अंगना 
मोरे सपना के घर म वो मन  के महल म तै आबे का मोरे अंगना 

जिनगी के सपना सजाहूँ रे तोर संग म 
जिनगी के सपना सजाले वो मोर संग म 

जिनगी सपना सजाहूँ रे तोर संग म 
मया नगरिया बसाले  वो  मोर अंगना
जिनगी सपना सजाहूँ रे तोर संग म

DOWNLOAD LYRICS 




छत्तीसगढ़ी टिक टिक कॉमेडी विडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें